Indian Railways: भारत में ट्रेन से सफर करने वालों के लिए खुशखबरी, अब इन लोगों को किराए में मिलेगी छूट

Indian Railways: भारतीय रेल भी आए दिन अपने नियमों में बड़ा बदलाव करता है ताकि गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार को बड़े राहत मिल सके। हाल ही में रेलवे विभाग से मिली अपडेट के अनुसार रेल अपने यात्रियों को बड़ी छूट देने जा रही है। दरअसल भारतीय रेलवे बोर्ड, सीनियर सिटीजंस के लिए आयु सीमा में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। इसके अलावा टिकट पर मिलने वाली रियायत को लेकर कुछ श्रेणियां अब सीमित होने वाली है।

कोविड-19 महामारी से पहले भारतीय रेल, सीनियर सिटीजंस को टिकट मे रियायत देता था, लेकिन कोविड-19 के बाद से सीनियर सिटीजंस को रियायत मिलना बंद हो चुकी है। हालांकि एक बार फिर रेलवे अब नागरिकों के लिए किराए में छूट देने की योजना बना रहा है, जिसमें दिव्यांग जनों के अलावा मरीज छात्रों और 11 श्रेणियां शामिल है।

   

इन लोगों को मिलेगी बंपर छूट

भारतीय रेल बेरोजगार युवाओं, पुरस्कार विजेताओं, सेना के जवानों, विकलांगों, पर्यटक गाइड, रोगियों, डॉक्टर और महिलाओं को छूट देने जा रही है। ट्रेन से यात्रा करने वाले इन व्यक्तियों को 53 फ़ीसदी तक किराए में छूट दी जाएगी। अब तक किए गए मामलों में कैंसर हड्डी की समस्या थैलेसीमिया मेजर एड्स टीबी ऑस्टॉमी छात्र और छोटे व्यक्तियों के मामले शामिल हैं।

अगर आपके घर भी लकवा ग्रस्त व्यक्ति, अंधे व्यक्ति मानसिक रूप से विकलांग और मानसिक रूप से संवेदनशील व्यक्ति है और आपके पास इन बीमारियों का सरकार द्वारा प्रमाण पत्र है तो आप रेलवे टिकट में बंपर छूट पाने के हकदार हैं। आपको टिकट बुक करते समय प्रमाण पत्र दिखाकर टिकट बुक करवा सकते। इसके बाद आपको किराए में बंपर छूट मिलेगी।

दरअसल कोविड-19 महामारी से पहले देश में वरिष्ठ नागरिक को और विकलांगों के लिए किराए में 50 से 60% की छूट मिलती थी लेकिन कोरोना के बाद से सरकार ने मिलने वाली छूट पर रोक लगा दिया था। हालांकि कुछ दिन पहले रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने संसद में कहा था कि जल्द ही वरिष्ठ नागरिकों और विकलांग जनों के लिए किराए में रियायत फिर से शुरू कर दी जाएगी।

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें