NPS vs OPS: सरकार कर्मचारियों की पेंशन स्कीम में करने जा रही ये बदलाव

NPS vs OPS: बहुत लंबे समय से ही Government Employe के माध्यम से सरकार के द्वारा दी जा रही पुरानी पेंशन योजना लागू करने का मांग हो रहा है। इसको लेकर अभी जानकारी मिल रही है कि केंद्र सरकार के द्वारा इस साल के अंतिम में जाकर नेशनल स्क्रीम को बदला जा सकता है।इसके बाद ही बताया जाएगा की किसी भी रिटायर कर्मचारियों को उनके रिटायर होने के बाद अंतिम दिनों में 40 से 45% पेंशन के रूप में दिए जा सकते हैं।इसको लेकर कर्मचारियों द्वारा उच्च स्तरीय पैनल पर आवाज उठाया गया है। 

कई मीडिया रिपोर्टर का मानना है, कि इससे जुड़े समस्याओं का सरकार के तरफ से विचार विमर्श किए जा रहे हैं। फिलहाल गवर्नमेंट के तरफ से अभी कुछ सुनने को नहीं मिला है लेकिन इस स्थिति में लोकसभा चुनाव को मध्य नजर में रखते हुए इसके लिए केंद्र सरकार के द्वारा जल्द ही कुछ निर्णायक अवश्य लिया जाएगा फिलहाल तो पुरानी पेंशन को लेकर बहुत बड़ी समस्या है।उत्पन्न है बीते कुछ दिनों में भाजपा शासित राज्य के माध्यम से सभी पुरानी पेंशन को लागू कर दिया है। 

   

आप सभी के जानकारी के लिए हम बता दे की सरकार के द्वारा दी जा रही पुरानी पेंशन योजना कर्मचारियों को लास्ट सैलरी 50% पेंशन के हिसाब से देने का फैसला है। साथी हिमाचल प्रदेश राजस्थान छत्तीसगढ़ पंजाब झारखंड में पुरानी पेंशन योजनाओं को बदल दिया गया है। इस पर सभी राज्यों के अर्थशास्त्रियों ने अपनी वाणी प्रकट करते हुए बताया है।

कि राज सरकार के द्वारा दिवालियापन की तरफ मुड़ सकती है। एसबीआई के प्रमुख सलाहकार श्री सौम्यकांत जी का कहना है कि पिछले बीते पेंशन योजना के रूप से चल नहीं रही है जिसके वजह से कई राज्यों पर इसका समस्या बढ़ता ही जा रहा है।और काफी हद तक बोझ भी बढ़ गई है।

आप सभी के जानकारी के लिए हम बता देना चाहते हैं कि अभी के चल रहे इस समय में मार्केट के लिंग पेशेंट योजना को 2004 में ही लॉन्च हुआ था।जिसमें सरकार द्वारा कर्मचारियों को वेतन 10% और 14% का योग देने की आवश्यकता थी।जिसके साथ ही सरकार द्वारा पुरानी पेंशन योजना में कर्मचारियों के माध्यम से किसी प्रकार का सहयोग देखने को नहीं मिला था।इनका कहना है।कि केंद्र सरकार द्वारा कैलकुलेशन के हिसाब से इसका बदलाव किया जाए और रिटायर होने वाले सभी कर्मचारियों को हायर रिटर्न के रूप में पेंशन योजना दिया जाए इसके बाद ही किसी भी कर्मचारी की नियुक्ति के रूप में बदला जा सकता है। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें