Vastu Tips: तुलसी में जल देते समय ना करें ये गलती, वरना हो जायेंगे कंगाल!

Vastu Tips: जैसा कि आप सभी को पता ही होगा हिंदू सनातन धर्म में तुलसी के पौधे को भगवान के रूप में पूजा जाता है सनातन धर्म के लोग जहां पर भी होते हैं वह वहां पर अपने आंगन में या घर में तुलसी का पौधा जरूर लगाते है। ऐसा इसलिए क्योंकि हिंदू सनातन धर्म में इसे भगवान की तरह पूजा जाता है।इसे लगाने के बहुत सारे लाभ हैं इसके साथी तुलसी पौधे के पत्ते से बहुत सारे बीमारियों का इलाज भी होता है। 

हिंदू सनातन धर्म के मुताबिक विष्णु भगवान को तुलसी बहुत प्यार है। जिससे हर एक व्यक्ति को सुबह प्रातः काल उठकर स्नान करके तुलसी के पेड़ में जल अवश्य चढ़ाना चाहिए क्योंकि ऐसा माना जाता है।कि ऐसा करने से किसी भी व्यक्ति के जीवन में आने वाले परेशानियां उनसे कोसों दूर चली जाती है।इसके साथ ही ध्यान रखें कि कुछ गलतियां ऐसी होती है।जिन्हें तुलसी भगवान का पूजा करते वक्त नहीं करना चाहिए। 

   

1. तुलसी के पौधे में ज्यादा जल न दें

कई व्यक्ति ऐसे ही होते हैं जो की तुलसी के पौधे में बहुत ज्यादा जल अर्पित करते हैं। जिससे होता है यह है कि उनकी जरा सड़ने लग जाती है और उसके साथ ही वह पौधे बहुत जल्दी सूखने लगते हैं। सनातन धर्म का मानना है कि तुलसी का पौधा सूखा हुआ घर में कभी भी नहीं रखना चाहिए इसे अशुभ होने की संभावना बनी रहती है। 

2. हमेशा सूर्योदय के समय जल चढ़ाए

अगर आप सभी चाहते हैं कि आप अपने जीवन में आगे बढ़े तरक्की करें तो यह बात हमेशा ध्यान रखें की तुलसी भगवान के पौधे में सूर्योदय के साथ ही जल अर्पित करें।अगर आप ऐसा प्रत्येक दिन करते हैं तो इससे आपके घर में आर्थिक समस्याएं खुद-बखुद दूर हो जाएगी। 

धार्मिक शास्त्रों का कहना है कि जब भी आप तुलसी भगवान का पूजन करें और उन्हें जल चढ़ावे तो ऐसी वस्तु का धारण नहीं करना चाहिए जिससे शीला गया हो। 

3. जो सिला हुआ ना हो ऐसे वस्त्र का धारण करें

यह हमेशा ध्यान में रखें की एकादशी के दिन गलती से भी तुलसी भगवान में जल अर्पित ना करें माना जाता है कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी जी हमसे प्रसन्न नहीं होती है साथी धार्मिक संस्थाओं का कहना है।कि मां लक्ष्मी जी भगवान विष्णु जी के लिए व्रत रखती है इसी वजह से अगर आप एकादशी के दिन तुलसी भगवान को जल अर्पित करते हैं। तो मां लक्ष्मी जी आपसे नाराज हो जाती है। जिससे आपकी आर्थिक स्थिति पर प्रभाव पड़ सकता है। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें