पढ़ाई से दूर भागने के बहाने नहीं तलाशेगा आपका बच्चा, खुद बैठकर पढ़ेगा अपनाए ये तरीके!

How To Make Child Study At Home: अक्सर हमे ऐसा देखने को मिलता है।कि जब भी हम अपने बच्चों को पढ़ने के लिए बोलते हैं तो उनके नए-नए बहाने शुरू हो जाते हैं।पढ़ने के समय में ही उन्हें नींद भूख सब आने लग जाती है।साथि वॉशरूम जाना होता है कई तरह के बहाने बनाते हैं।अब उन सब चीजों के लिए उन्हें रोका तो नहीं सकते है। पर कुछ ऐसे टिप्स हैं जिसको अगर आपने अपना लिया और इस बात को आप अपने ध्यान में रखते हैं। तो निश्चित ही रूप से आपके बच्चे को ना पढ़ने का जो आदत है वह बिल्कुल ही छूट जाएगी। वहां तक कि वह खुद से बैठकर पढ़ाई शुरू कर देंगे चलिए हम आप सभी को बताते हैं कि किन-किन बातों का आप सभी को रखना है ध्यान ताकि आपके बच्चे भी मन लगाकर पढ़ाई करने लग जाए और उनका मन पढ़ाई मैं लगने लगे।

बच्चों का पढ़ाई में मन लगाने के लिए कुछ आसान टिप्स

अक्सर पेरेंट्स यह गलती करते हैं कि अपने बच्चों का कंपेयर वह दूसरे से करने लग जाते हैं आप सभी को ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए इससे बच्चे पर नारा आत्मक प्रभाव का असर पड़ता है और उनके मन में यह आता है कि हम कुछ अच्छा नहीं कर सकते हैं इसीलिए उनका तुलना करने के वजह उनको motivate करें। 

   

कभी भी आप अपने बच्चों पर पढ़ाई का ज्यादा प्रेशर ना दें यह भी अच्छा नहीं माना जाता है।इससे उन्हें पढ़ाई का डर हर वक्त सताता रहता है।जिसके वजह से वह पढ़ाई से दूरी बनाना शुरू कर देते हैं। केवल उनसे आप पढ़ाई के बारे में पढ़ते वक्त ही बात करें।

उनके लिए आप पढ़ाई करने के लिए एक बेहतरीन रूटीन बना दे यह भी बहुत जरूरी होता है।इससे आपके बच्चे पर अनुशासन देखने को मिलेगा और वह अपना हर काम समय से कर लेंगे शुरुआत में आप अपने बच्चों को लंबी अवधि के लिए पढ़ाई के लिए नहीं बोल। 

अगर आप लोगlg भी चाहते हैं कि आपका बच्चा पढ़ने में आगे बढ़े और वह मन लगाकर पढ़े तो आपको अपने घर से उन सभी चीजों को हटा देना है। जो कि उन्हें पढ़ने से रोकते हैं और उनका मन भटकता रहता है जैसे कि फोन खिलौना और भी बहुत कुछ होते हैं। 

आप सभी लोगों में से कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि अपने बच्चों के अंदर कमी निकालने लग जाते हैं।जिससे उनका मन उदास हो जाता है उनको ऐसे लगने लग जाता है।कि उनमें सिर्फ कमियां ही है और वह कुछ नहीं कर सकते हैं।इसीलिए आप समय समय पर उनको मोटिवेट करें जिससे उनके अंदर नारात्मक सोच नहीं आएगी। 

WhatsApp चैनल ज्वाइन करें